नवदुर्गा और व्रत और पूजन के दौरान लहसुन-प्याज क्यों नहीं खाना चाहिए! इसके पीछे की बजह जाने ?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye : पुराने काल से ही प्याज और लहसुन खाने के लिए मना किया जाता है लेकिन ऐसा क्यों किया जाता है और किसको प्याज और लहसुन नहीं खाना चाहिए यह जानना आपके लिए अत्यंत आवश्यक हो जाता है | प्याज और लहसुन जो खाने को स्वादिष्ट बनाते हैं आप फिर इसे खाने की मनाही क्यों की जाती है इसके बारे में जानना बड़ा ही महत्वपूर्ण हो जाता है तो चलिए आज हम जानते हैं कि आखिर व्रत पूजन के दौरान लहसुन प्याज का सेवन नहीं किया जाता है और इसके लिए क्यों मना किया जाता है |

Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye

हिंदू धर्म के अनुसार कई लोग लहसुन प्याज का सेवन नहीं करना चाहते वह लहसुन और प्याज से परहेज करते हैं इसके पीछे के कौन से वैज्ञानिक कारण हैं या क्या इसके पीछे के धार्मिक कारण हैं उनके बारे में यहां पर हम जानेंगे जिससे आपको भी पता चल सके कि आखिर क्यों धर्म और शास्त्रों में लहसुन और प्याज के सेवन पर रोक लगाई गई है |

इसलिए नहीं खाना चाहिए लहसुन प्याज

Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye : ऐसा बताया जाता है कि जो लोग लहसुन और प्याज जैसी सब्जियों का खानपान करते हैं तो यह सब्जियां उनके अंदर उत्तेजना को बढ़ावा देती हैं | और इस प्रकार से उनके अध्यात्म के मार्ग में बाधा और विघ्न उत्पन्न हो जाते हैं इसलिए इसका सेवन नहीं किया जाता है |

भागवत गीता के 17 अध्याय में बताया गया है कि व्यक्ति जैसे भोजन का सेवन करता है उसकी प्रकृति देसी हो जाती है इसलिए व्यक्ति के ऊपर भोजन का भी विशेष प्रभाव पड़ता है |

Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye

आयुर्वेद के अनुसार भोजन का विभाजन

Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye : वेद शास्त्रों और आयुर्वेदिक के मुताबिक खाने को तीन कैटेगरी में विभाजित किया गया है सबसे पहले सात्विक भोजन उसके बाद दूसरा राजासिक भोजन और तीसरा भोजन जिसे सामासिक भोजन कहते हैं |

सात्विक भोजन : ऐसा बताया जाता है कि सात्विक भोजन शांति और पवित्रता के रूप में माना जाता है इस भोजन से सकारात्मकता शांति संयम पवित्रता ज्ञान जैसे गुण व्यक्ति में उत्पन्न होते हैं | इसलिए शांत स्वभाव वाले व्यक्ति और जो पवित्रता की ओर बढना चाहते हैं तो वह इस भोजन का खानपान करते हैं |

राजासिक भोजन : अगर हम राजासिक भोजन की बात करें तो यह भोजन खुशी और जुनून के गुणों से भरपूर रहता है और इस भोजन से साहस शौर्य प्रसन्नता बुद्धि आदि के गुण व्यक्ति में पैदा होते हैं |

तामसिक भोजन : ऐसा बताया जाता है कि तामसिक भोजन गुस्से और अहंकार और विनाश करने का प्रतीक होता है इसलिए इस खाने को वर्जित माना गया है और इस खाने का प्रयोग नहीं किया जाता है और इसी श्रेणी में लहसुन और प्याज आता है इसलिए इसका सेवन करने पर पावन दिया है |

महत्वपूर्ण लिंक – Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye

🔥 Lahsun Kyon Nahin khana Chahiye Click Here
🔥 ✅Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye Click Here
🔥 ✅जानिए कुछ लोग क्यों नहीं खाते प्याज-लहसुनClick Here
🔥 ✅InstagramClick Here
🔥✅ Telegram Channel Click Here
🔥 ✅Telegram Channel Sarkari Yojana NewClick Here
🔥 ✅TwitterClick Here
🔥 ✅Website Click Here

Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye :

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी धार्मिक मान्यताओं और सोशल मिडिया पर दी गई जानकारी पर आधारित है यहां किसी भी दी गई बात की पुष्टि हम नहीं करते है इसके और अधिक जानकारी के लिए किसी जानकार से सलाह लें. (Lahsun Pyaj Kyon Nahin khana Chahiye )

Leave a Comment